21 अप्रैल 2022 को आयोजित होगा ’’अप्रेन्टिसशिप मेला’’

आत्मा प्रसाद त्रिपाठी की रिपोर्ट

जिलाधिकारी ने बैठक कर तैयारियो के सम्बन्ध में दिया निर्देश

अनुपस्थित 02 अधिकारियो का वेतन काटने का निर्देश

शिक्षुता प्रशिक्षण के लिये अधिष्ठानो तथा अभ्यर्थियो का राष्ट्रीय पोर्टल पर तत्काल कराये पंजीकरण -जिलाधिकारी

मीरजापुर 15 अप्रैल 2022-शासन के निर्देश के क्रम में शिक्षुता प्रशिक्षण (अप्रेन्टिसशिप) के अन्तर्गत प्रदेश के सभी जनपदो में आगामी 21 अप्रैल 2022 को राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आई0टी0आई0) के परिसर में प्रातः 10 बजे से अपरान्ह 03 बजे तक अप्रेन्टिसशिप मेला का आयोजन किया जायेगा। इस सम्बन्ध में जनपद मीरजापुर मेला आयोजन के तैयारियो के लिये जिलाधिकारी श्री प्रवीण कुमार लक्षकार ने टेक्निकल विभागो, उद्यमियो तथा अन्य अधिकारियोे के साथ कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने बताया कि शिक्षुता प्रशिक्षण के माध्यम से युवाओ को उद्योगो, अधिष्ठानो तथा एम0एस0एम0ई0 में व्यवहारिक प्रशिक्षण प्रदान करने के लिये उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री शिक्षुता प्रोत्साहन योजना (सी0एम0पी0एस0) को प्रारम्भ किया गया हैं। उक्त के अन्तर्गत अप्रेन्टिसशिप के अन्तर्गत प्रदेश अधिकाधिक युवाओ को जोड़ने एवं रोजगार उपलब्घ कराने के दृष्टिगत आगामी 21 अप्रैल 2022 को अप्रेन्टिसशिप मेला का आयोजन किया गया हैं। मेले के नामित नोडल अधिकारी प्राचार्य राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आई0टी0आई0) को निर्देशित करते हुये जिलाधिकारी ने कहा कि मेले के सफल आयोजन हेतु सभी आवश्यक तैयारियो को पूर्ण करा लिया जाय। इसके साथ ही साथ मेले का विभिन्न माध्यमो से वृहद प्रचार प्रसार कराया जाय साथ ही साथ मेले की तैयारियो का नियमित रूप से प्राचार्य आई0टी0आई0 अनुश्रवण भी करते रहें। जिलाधिकारी ने कहा कि अप्रेन्टिसशिप मेला के सम्बन्ध में जनपद के अधिष्ठानो तथा अभ्यर्थियो का शिक्षुता प्रशिक्षण के राष्ट्रीय पोर्टल पर पंजीकरण तत्काल प्रभाव से प्रारम्भ करा दिया जाय तथा मेले की तिथि से पूर्व समस्त पंजीकृत अधिष्ठानो एवं शिक्षुओ की रिक्तियो को पोर्टल पर नियमित रूप से प्रदर्शित करने की कार्यवाही सुनिश्चित किया जाय। उन्होने कहा कि जनपद में निर्धारित 400 अप्रेन्टिसशिप के लक्ष्य को विभागवार यथा जल निगम, लोक निर्माण विभाग, लघु डाल नहर, सिचाई विभाग, कौशल विकास, राजकीय नलकूप खण्ड, विद्युत विभाग सहित अन्य विभागो से समन्वय स्थापित करते हुये उनके कार्य एवं रिक्तियो के अनुसार लक्ष्य निर्धारित किया जाय ताकि वे मेले में आये हुये अप्रेन्टिसशिप युवाओ को अपने टेªड अनुसार चयन कर सकें। उन्होने कहा इसके अतिरिक्त जनपद के बड़े उद्यमियो, व्यापारिक संगठनेा, निजी उद्योगो तथा एम0एस0एम0ई0 जो शिक्षुता प्रशिक्षण प्रदान किये जाने की श्रेणी में आच्छादित है तथा इनका शिक्षुता प्रशिक्षण के क्रियान्वयन से सम्बन्धित राष्ट्रीय पोर्टल पर पंजीकरण नही हैं। ऐसे समस्त उद्योग/अधिष्ठान तथा एम0एस0मए0ई का राष्ट्रीय पोर्टल पर पंजीकरण कराना सुनिश्चित कराते हुये उनके रिक्तियो के अनुसार लक्ष्य निर्धारित कराते हुये उन्हें अप्रेन्टिसशिप मेला में प्रशिक्षुओ को चयन के लिये अपना कैम्प लगवाने हेतु निर्देशित करें। बैठक में अधिशाषी अभियन्ता सिचाई व विद्युत के अनुपस्थित रहने पर एक दिन का वेतन रोकने का निर्देश भी जिलाधिकारी द्वारा दिया गया। नोडल अधिकारी/प्राचार्य आई0टी0आई0 ने जानकारी देते हुये बताया कि व्यवसायिक शिक्षा विभाग के अधीन संचालित राजकीय एवं प्राइवेट आईटीआई से उत्तीर्ण कर चुके युवक युवतियों के लिए सरकारीध्निजी अधिष्ठानों व विभागों में 1 साल के लिए अप्रेंटिसशिप प्रशिक्षण योजना के तहत रखा जाएगा वहां पर 1 साल काम करेंगे उसके बदले उन्हें रू 7700 मानदेय मिलेगा। 01 साल बाद उनको अप्रेंटिस का प्रमाण पत्र भी मिलेगा इसके चयन के लिए 21 अप्रैल 2022 को राजकीय आईटीआई मिर्जापुर में मेला लगेगा । प्रतिष्ठानों द्वारा अभ्यर्थियों को प्रतिमाह दिए जाने वाले मानदेय के सापेक्ष सरकार की ओर से प्रोत्साहन के रूप में रुपया 2500 प्रति माह प्रति छात्र वापस कर दिया जाएगा जो आईटीआई के द्वारा किया जाएगा। बैठक में प्राचार्य आई0टी0आई0 के अलावा जिला सेवा योजन अधिकारी, उपायुक्त उद्योग, एल0डी0एम0 के अलावा सभी सम्बन्धित विभागीय अधिकारी एवं मेटल उद्योग के पदाधिकारी रंजू अग्रवाल उपस्थित रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.