।सर सुंदर लाल चिकित्सालय (बीएचयू) वाराणसी में हृदय रोग विभाग के विभागाध्यक्ष डाक्टर ओम शंकर जी के चैम्बर में उनके दुखद स्थितियों से हुआ रूबरु दिखा जमीनी सच

इंडिया लाइव न्यूज़ 24 से वरिष्ठ पत्रकार की रिपोर्ट

आज मन बहुत अशांत है।सर सुंदर लाल चिकित्सालय (बीएचयू) वाराणसी एक वयोवृद्ध हृदय रोगी की चिकित्सा के सिलसिले में हृदय रोग विभाग के विभागाध्यक्ष डाक्टर ओम शंकर जी के चैम्बर में दो दुखद स्थितियों से रूबरू हुआ।
जिस अस्पताल में देश के कोने कोने से हर जगह से निराश मरीज स्वास्थ्य लाभ की उम्मीद लेकर आते हैं वहां के कार्डियोलॉजी (हृदय रोग) विभाग के सीसीयू वार्ड में मात्र 17बेड हैं और सामान्य वार्ड मात्र 24बेड। कोढ़ में खाज की स्थिति यह है कि सीसीयू वार्ड मैं आपरेटिंग स्टाफ न होने से यह वार्ड अच्छे दिन के सपनों की तरह शोपीस बन कर रह गया है। विभागाध्यक्ष डा.ओम शंकर जी से जो जमीनी सच सुनने को मिला वह चिंतित करता है। अस्पताल प्रबंधन बार बार ध्यानाकर्षण के बाद भी आपरेटिंग स्टाफ सहित अपेक्षित वर्क फोर्स मुहैय्या नहीं करा रहा है।
डा.ओम शंकर जी के चैम्बर में लहुराबीर की एक बृद्ध महिला अपने पुत्र पुत्र वधू की उपेक्षा को याद कर फफक फफक कर रोने लगी। भरा पूरा परिवार लेकिन बृद्ध महिला को लेकर एक नेक दिल पड़ोसी युवती आई थी।
मन यह सोच सोच कर व्यथित है कि जिस औलाद के लिए मां बाप जीवन होम कर देते हैं बुढ़ापे में औलादें ऐसा व्यवहार कर मां बाप को रूलाने की निकृष्ट हरकत करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *