स्वास्थ्य विभाग में नौकरी लगवाने के नाम पर आठ लाख की ठगी,मुकदमा दर्ज

वरिष्ठ पत्रकार सतीश कुमार मौर्य

राजधानी की पीजीआई कोतवाली में स्वास्थ्य विभाग में नौकरी लगवाने का झांसा देते हुए आठ लाख रुपये की धोखाधड़ी किए जाने का मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपियों ने जाली नियुक्ति पत्र भी थमाए थे। जिन्हें लेकर उन्नाव स्थित राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के दफ्तर पहुंचने पर ठगों की करतूत पता चली थी।

पुलिस द्वारा मिली जानकारी के अनुसार रथींद्रनगर निवासी रंजन यादव सरकारी नौकरी के लिए प्रयासरत थे। वर्ष 2021 में फुफेर भाई के जरिए प्रदीप कश्यप से मुलाकात हुई थी। जो एनएमएम में कार्यरत होने का दावा करता था। बातचीत के दौरान प्रदीप ने बताया था कि स्वास्थ्य विभाग में कई भर्तियां होनी हैं। जिसके लिए रुपये भी चल रहे हैं। अगर चाहो तो तुम्हारी भी नौकरी लग जाएगी। यह बात सुन कर रंजन और उनके फुफेर भाई ने हामी भर दी थी। जिसके बदले प्रदीप ने करीब आठ लाख रुपये नकद लिए थे। फिर रंजन की पोस्टिंग उन्नाव में होने का दावा करते हुए नियुक्ति पत्र दिया था।

पीड़ित के मुताबिक दफ्तर पहुंचने पर उसे नियुक्ति पत्र फर्जी होने का पता चला था। वह वापस आकर प्रदीप से भी मिला था। लेकिन आरोपी ने रुपये लौटाने से मना करते हुए गाली गलौज की थी। रंजन के मुताबिक पांच और लोगों से भी प्रदीप धोखाधड़ी कर चुका है। इंस्पेक्टर धर्मपाल सिंह के अनुसार प्रदीप कश्यप की तलाश में छापेमारी की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.