स्थाई नौकरी सेना में ही नही हर जगह घट रही, UPSC भर्ती हुई आधी जबकि ठेकाकर्मी 2 साल में हो रहे दोगुने

वरिष्ठ रिपोर्टर सतीश कुमार मौर्य

सेना में अग्निपथ को लेकर हो हल्ला है. वहीं आंकड़े बताते हैं कि केंद्र से लेकर राज्य तक की भर्तियों में स्थाई के बजाय ठेके को तरजीह दी जा रही है. नेशनल पेंशन स्कीम की ताजा आंकड़े के अनुसार, केंद्र सरकार ने 2021 में 2020 के मुकाबले 27% कम स्थाई भर्तीयां कीं. यही ट्रेंड राज्यों में भी रहा. उन्होंने 21% तक स्थाई भर्तियां घटा दीं.

केंद्र ने 2020 में 1.19 लाख स्थाई नौकरी दी. 2021 में यह घटकर 87423 रह गईं. आंकड़ो के मुताबिक 2017 में केंद्र ने औसतन 11 हजार स्थाई नौकरी हर महीने दी. 2020 में यह घटकर 7285 रह गईं. हर महीने 45208 भर्ती हर महीने करने वाली राज्य सरकारों ने भी 2020 में हर महीने 32421 भर्तियां कीं.

2019 में केंद्र में 13.64 लाख कर्मचारी ठेके पर काम कर रहे थे. 2021 में यह संख्या बढ़कर 24.31 लाख हो गई. कोरोना काल मे नई भर्तियों पर रोक रही. दूसरी ओर इस वजह से सरकारों ने आउटसोर्सिंग भर्तियों पर फोकस बढ़ा लिया. इस कारण 2 साल मे ही केंद्र में ठेका कर्मियों की संख्या 2 गुनी हो गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published.