सम्मानित समाचार पत्र का फर्जी संपादक रंगदारी के मामले में गिरफ्तार।

बुजुर्ग अधिवक्ता से किया था अवैध रुपयो की मांग

रुपये न देने पर सोशल मीडिया पर बदनाम करने की दी थी धमकी

वाराणसी। पुलिस अधीक्षक ग्रामीण के कुशल निर्देशन में क्षेत्राधिकारी पिंडरा के द्वारा टीम गठित कर रोकथाम अपराध व वांछित अभियुक्तो की गिरफ्तारी के संबंध में कार्यवाही करने के क्रम में थाना प्रभारी चोलापुर दुर्गेश मिश्रा के द्वारा मुअस 343/2022 धारा 504, 506, 384 व आईटी एक्ट 66 ई में शामिल दो बदमाशो को गिरफ्तार करने में सफलता हाथ लगी।

बताया जाता है कि यह गिरफ्तारी चोलापुर थाना क्षेत्र के मोहांव के पास से मुखबिर की सूचना पर की गई। जिसमे पकड़े गए अभियुक्तों में राकेश शर्मा पुत्र पन्ना लाल निवासी महमूरगंज वाराणसी व प्रवीण कुमार पुत्र सूर्य प्रताप निवासी लहरतारा नईबस्ती मंडुवाडीह वाराणसी शामिल है। जिन्हें गिरफ्तार कर अग्रिम कार्यवाही करते हुए जेल भेज दिया गया।


घटना के संबंध में बताया जाता है कि चोलापुर थाना क्षेत्र के गहनी ग्राम निवासी अधिवक्ता गजानंद तिवारी को गलत तरीके से अपने जाल में फंसाकर अवैध रुपयों की मांग की गई और न देने पर गली गलौज व धमकी देने के साथ ही उनका एडिट फोटो व वीडियो को समाचार बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल भी किया गया। जिसके संबंध में अधिवक्ता गजानंद तिवारी के द्वारा लिखित शिकायत कर चोलापुर थाने में मु.अ.स. 343/2022 धारा 504, 506 384, आईटी एक्ट 66 ई दर्ज कराया गया था, जिसके तहत इन अभियुक्तों की गिरफ्तारी की गई।


वही बताया जाता है कि गिरफ्तार राकेश शर्मा अपने आपको एक सम्मानित समाचार पत्र का संपादक बताता है, परन्तु जब पुलिस ने उक्त समाचार पत्र के असल संपादक से वार्ता की तो उन्होंने बताया कि वो राकेश शर्मा को जानते भी नही है और उससे कोई लेना देना भी नही है।

वहीं पुलिस का कहना है कि इस राकेश शर्मा का पुरुष व महिलाओं का एक गोल गिरोह है जिनका काम लोगों को ब्लैकमेल कर अवैध वसूली करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *