समय से नही खुल रहे स्कुल बच्चो को करना पडता है इतजार

मिर्ज़ापुर से आत्मा प्रसाद त्रिपाठी की रिपोर्ट

सरकारी तौर पर भले ही परिषदीय स्कूलों में शिक्षा व्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए नित नए निर्देश जारी किए जा रहे हैं लेकिन जिम्मेदारों की मनमानी से सभी स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार होता नहीं दिख रहा है कहीं समय से शिक्षक स्कूल नहीं पहुंच रहे हैं तो कहीं समय से पहले ही शिक्षक स्कूलों का ताला लगाकर गायब हो जा रहे हैं कहीं पर समय से पहले ही शिक्षक जिसके चलते शिक्षा का स्तर लगातार गिरता जा रहा है कई ऐसे विद्यालय हैं जहां पर तैनात शिक्षक अफसरों से सेटिंग करके विद्यालय में ही नहीं आ रहे हैं आरोपी कि ऐसे शिक्षक द्वारा अफसरों को मासिक सुविधा शुल्क दिया जाता है तमाम शिकायतों के बाद बावजूद भी ऐसे मनमानी शिक्षकों के खिलाफ कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाई जाती है जिसके चलते सरकारी निर्देशो को खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं विकास खंड राजगढ व प्राथमिक विद्यालय खुटहा बन इमिलिया जंगल महाल बेचू बीर बैरमपुर एकली सरिया भगवती देवी सोनपुर बाद इलाके में सुदूर स्थित स्कूलों में ज्यादातर शिक्षकों की मनमानी देखने को मिल रही है तमाम ऐसे ही स्कूल है या मनमानी शिक्षक महीने में एक एक बार दो बार पूरे मां भर हाजिरी लगा लेते हैं ऐसे में शिक्षा विभाग द्वारा जारी निर्देश केवल हवा-हवाई साबित हो रहा है शहर में आते-जाते ऐसे शिक्षक शिक्षिकाओं पर अक्सर स्कूल समय से नहीं पहुंचते कुछ स्थानीय शिक्षक भी जिम्मेदार की मिलीभगत के समय से इस शिक्षकों की समय से ना आना न समय से जाना पर क्षेत्रीय ग्रामीणों में भारी आक्रोश दिखा जिलाधिकारी मिर्जापुर बेसिक शिक्षा अधिकारी मिर्जापुर क्षेत्र की जनता ने मांग किया है कि की प्राथमिक उच्च प्राथमिक विद्यालय के अध्यापक समस्या में समय से जाएं क्षेत्र में समय से विद्यालय का ताला कभी नहीं खुलता बच्चे घंटे 2 घंटे इंतजार करते रहते हैं विकासखंड राजगढ़ के खंड शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया जाए कि विद्यालय को चेक भी किया करें समय से अध्यापक पहुंचे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *