यूपी: डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने अपने ही विभाग में हुए तबादलों पर उठाये सवाल, मांगा जवाब

लखनऊ ब्यूरो वरिस्ठ पत्रकार सतीश कुमार मोर्य

लखनऊ उत्तर प्रदेश

अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य

मेरे संज्ञान में लाया गया है कि वर्तमान सत्र में जो भी स्थानांतरण किए गये हैं उनमें स्थानांतरण नीति का पूर्णतः पालन नहीं किया गया है। अतः जिन-जिन का स्थानांतरण किया गया है उनके स्थानांतरण किए जाने का कारण स्पष्ट करते हुए उनका सम्पूर्ण विवरण उपलब्ध कराया जायें।

  1. मुझे यह भी अवगत कराया गया है कि लखनऊ सहित प्रदेश को अन्य जनपदों में स्थित बड़े अस्पतालों, जहाँ विशेषज्ञ डाक्टरों की अत्यन्त आवश्यकता है, से बड़ी संख्या में डाक्टरों को हटा तो दिया गया है लेकिन उनके स्थान पर प्रतिस्थानी की नियुक्तियां नहीं की गयी है। लखनऊ प्रदेश की राजधानी है यहाँ वैसे भी विशेषज्ञ डाक्टरों की पहले से ही कमी है तथा प्रदेश के हर जनपद से गम्भीर मरीजों को लखनऊ के लिए रेफर करके भेजा जाता है ताकि उनका समुचित इलाज सम्भव हो सके, ऐसे में इतने महत्वपूर्ण व बड़े अस्पतालों तथा अन्य जनपदों के बड़े अस्पतालों से इतनी बड़ी संख्या में डाक्टरों का स्थानातरण कर देने व उनके स्थान पर किसी को तैनात न करने के फलस्वरूप चिकित्सा व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए क्या किया जा रहा है. पूरा विवरण उपलब्ध कराया जाये।
  2. जिन-जिन डाक्टरों का स्थानांतरण किया गया है, क्या यह सत्यापित कर लिया गया है कि स्थानांतरित डाक्टरों की अवधि से अधिक अवधि वाला कोई भी चिकित्साधिकारी उस जनपद / मण्डल / अस्पताल में अब कार्यरत नहीं है?
  3. कितने चिकित्साधिकारी विभिन्न स्थानों में सम्बद्ध हैं तथा उनके सम्बद्धीकरण पर निर्णय कब किया जायेगा? सम्बद्ध चिकित्साधिकारियों के विवरण सहित उनकी सूची उपलब्ध करायी जाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published.