मोटर मेकेनिक ने पंखे से लटकर लगाई फाँसी

जौनपुर से संतोष मिश्रा की रिपोर्ट

रामपुर थाना क्षेत्र के राघवरामपट्टी गांव में मोटर मकैनिक ने अपने ही गैरेज के अंदर पंखे में दुपट्टा फंसाकर फांसी लगाकर मौत को गले लगा लिया। प्रतिदिन की भांति सुबह जब घर मकैनिक नहीं पहुंचा तो परिजनों ने गैरेज पर जाकर देखा तो कमरे के अंदर फांसी से मृत पड़ा हुआ है। जिसको देखकर परिजनों में रोना पीटना शुरु हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।


रघोरामपट्टी गांव के शोभनाथ का 24 वर्षीय पुत्र पंकज बाइक मोटर मैकेनिक का काम करता है। घर से 200 मीटर दूर गाड़ी सर्विस और बाईक गैरेज खोला था। प्रतिदिन की भांति रविवार की रात खाना घर पर खाकर अपने गैरेज में सोने चला गया। सुबह 9:30 बजे तक जब पंकज घर नहीं आए तो परिजन बाइक गैरेज पर पहुंचे तो दरवाजा अंदर से बंद था दरवाजे पर परिजनों ने आवाज दिया जब वह नहीं बोला तो पीछे की खिड़की से देखा तो पंखे के सहारे दुपट्टा गले में लगाकर चौकी पर बैठकर झूल रहा था। परिजनों ने किसी तरह सामने से दरवाजा खोलकर अंदर पहुंचे और उसे फांसी से नीचे उतारा। सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
मोटर मकैनिक पंकज फांसी क्यों लगाया परिजनों के बीच रहस्य बना हुआ है। मृतक के पिता शोमनाथ ने बताया कि मेरी और बच्चे की किसी से भी दुश्मनी भी नहीं थी। मोटर मैकेनिक पंकज की अभी शादी भी नहीं हुई थी। मृतक अपने चार भाइयों में वह सबसे छोटा था। पंकज की मौत की समाचार जैसे ही घर पर महिलाओं के बीच पहुंचा मृतक की मां दहाड़े मार कर रोने लगी। मां को मृतक पंकज बहुत ही प्यार करता था। कभी भी मां से दूर नहीं रह पाता था जिसको लेकर मां काफी दुःखी होकर रो रो कर बता रही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.