मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने किया आकस्मिक निरक्षण कई डॉ मिले अनुपस्थित एक दिन का वेतन काटने का आदेश

आत्मप्रसाद त्रिपाठी की रिपोर्ट

किया निरीक्षण सभी चिकित्सक अनुपस्थित , वेतन का आदेश

सुबह 8 बजे अहरौरा सीएचसी पहुंचे मुख्य चिकित्सा अधिकारी

अहरौरा ,

मुख्य चिकित्सा अधिकारी राजीव सिंघल ने शनिवार को सुबह 8 बजे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अहरौरा का आकस्मिक निरीक्षण किया । निरीक्षण में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर नियुक्त सभी चिकित्सक अनुपस्थित मिले जिनका एक दिन का वेतन काटने की बात कहीं ।


सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की साफ-सफाई अत्यंत खराब होने पर मौके पर मौजूद कर्मियों को कड़ी फटकार लगाते हुए सुधरने का निर्देश दिया ।
और कहा कि दो दिन बाद मैं पुन आऊंगा अगर स्थिति में सुधार नहीं हुआ तो कठोर कार्यवाही की जाएगी ।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी की गाड़ी सुबह 8 बजे जब सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के सामने आकर रुकी तो वहां पर उपस्थित चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों एवं स्टाफ नर्स में खलबली मच गई सब इधर-उधर भागने लगे इतना में मुख्य शिक्षा अधिकारी गाड़ी से उतर कर चिकित्सालय में प्रवेश कर गए और उन्होंने एक एक करके उपस्थिति रजिस्टर स्टाक रजिस्टर,दवा पंजिका सहित दवाओं की स्थिति एवं साफ सफाई का बारीकी से निरीक्षण किया और व्यापक गंदगी और घोर लापरवाही देखकर उपस्थित स्टाफ को कड़ी फटकार लगाते रहे ।
सूचना पाकर मौके पर पहुंचे पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि चिकित्सालय पर कुछ दवा है जो एक-दो दिन में एक्सपायर कर जाएंगी ।
इसको तत्काल हटाने का निर्देश दिया गया है ।
इसके साथ ही मुख्य शिक्षा अधिकारी ने बताया कि प्रसव केंद्र में भी साफ सफाई की स्थिति नहीं है जिस पर उन्होंने वहां उपस्थित एनम को कड़ी फटकार लगाई ।
और चिकित्सालय में बने 8 बेड के कोविड-19 कक्ष में ऑक्सीजन सिलेंडर न होने पर भी नाराजगी व्यक्त करते हुए ऑक्सीजन सिलेंडर एवं ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ लगाने वाले मास्क को तत्काल लगाने का निर्देश भी उन्होंने उपस्थित स्टाफ को दिया ।
उपस्थित स्टॉप से सीएमओ ने कहा कि चिकित्सालय का खराब पड़ा सीसी कैमरा तत्काल ठीक कराया जाए ।
बताया जाता है कि डॉक्टर अभिषेक नाइट ड्यूटी करने के बाद जैसे ही सुबह 8 बजे चिकित्सालय से निकले कि उसी समय मुख्य शिक्षा अधिकारी की गाड़ी चिकित्सालय के दरवाजे पर पहुंच गई यह देख उपस्थित स्टाफ ने बताया कि डॉ अभिषेक अभी जा रहे हैं ।
रजिस्टर देखने पर पता चला कि डॉ अभिषेक नाइट ड्यूटी करने के बाद सुबह 8 बजे जा चुके हैं ।
वही दंत रोग चिकित्सक डॉ निशान एकमात्र उपस्थित चिकित्सक मिले ।
लेकिन चिकित्सालय पर दंत रोग संबंधी किसी भी प्रकार की कोई सुविधा उपलब्ध न होने के कारण डॉक्टर इंसान भी शो पीस के डॉक्टर बनकर रह गए हैं ।

चार चिकित्सकों का कटा वेतन

मुख्य शिक्षा अधिकारी ने बताया कि चिकित्सा अधीक्षक डॉ हरीश चंद्र सहित सुनील सिंह ,डॉ प्रीति शर्मा सहित एक अन्य चिकित्सक का एक दिन का वेतन काटा जाएगा ।
30 बेड के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक भी मरीज भर्ती न
होने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि यहां की स्थिति देखने से यह लग रहा है कि यहां बहुत बड़ी दूर व्यवस्था है और कोई चिकित्सा कभी नहीं रहता जिससे यहां मरीज की भर्ती नहीं ली जाती है ।
उन्होंने उपस्थित स्टाफ को सख्त निर्देश दिया कि यहां मरीज भर्ती किए जाएं ।

हॉस्पिटल में कभी-कभी नजर आती है महिला चिकित्सक

स्थानीय लोगों के अनुसार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में नियुक्त महिला चिकित्सक डॉ प्रीति शर्मा कभी-कभी ही नजर आती है ।
अधिकांश लोगों को यह भी नहीं पता है कि यहां महिला चिकित्सक की नियुक्ति है जिसके कारण लोग झोलाछाप डॉक्टरों के यहां जाने को बाध्य होते हैं ।

चिकित्सालय पर सुविधाएं उपलब्ध कराने की मांग

पूर्व ऊर्जा राज्य मंत्री एवं क्षेत्रीय विधायक रामाशंकर सिंह पटेल द्वारा गोद लिए गए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अहरौरा में सुविधाओं का पूर्ण रूप से टोटा है । स्थानीय लोगों ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर एक्सरे अल्ट्रासाउंड मशीन सहित अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने की मांग किया ।
जिस पर मुख्य शिक्षा अधिकारी ने आश्वासन दिया कि मैं प्रयास करूंगा कि जल्द ही यहां सुविधाएं उपलब्ध हो ।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी के साथ उनके लिपिक मनीष श्रीवास्तव भी मौजूद रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.