माँ विन्ध्वासिनी मंदिर में दान किया गया 101 किलो का चांदी का दरवाजा

सतीश कुमार मौर्य की रिपोर्ट

खबर विशेष

मां विंध्यवासिनी मंदिर में लगवाया 101 KG का चांदी का दरवाजा ……. 80 लाख है कीमत .
कई लोगों की भगवान में काफी आस्था होती है. आपने लोगों को मंदिरों में दान करते हुए देखा होगा.


मंदिर में दान किया चांदी का 101 किलो का दरवाजा.
चांदी के बने 101 किलो का दरवाजा झारखंड के रांची में रहने वाले भक्त संजय चौधरी ने लगवाया. उन्होंने इसे माता रानी की कृपा बताते हुए कहा कि यह सब मां के आशीर्वाद का फल है.


करीब 80 लाख रुपये है दरवाजे की कीमत…..
चांदी के दरवाजे का निर्माण राजस्थान झुनझुनू के पांच कारीगरों विक्रम, प्रमोद, गोपाल एवं संजय ने किया है. माता विंध्यवासिनी के दरबार के प्रथम गणेश द्वार पर लगने वाले 101 किलो के रजत द्वार की कीमत करीब 80 लाख रुपये आंकी गई.
पुजारियों ने विधि-विधान से लगवाया दरवाजा.
यह दरवाजा सवा पांच फीट लंबा व दो फीट चौड़ा है. गुरुवार को मंदिर के पुजारियों ने विधि-विधान से पूजन पाठ कर मंत्रोच्चारण के साथ यह दरवाजा लगवाया. इसके पूर्व यह द्वार पीतल का बना था. 
25 साल से मंदिर दर्शन के लिए आ रहे हैं चौधरी.

माता विंध्यवासिनी के दरबार में करीब 25 साल से झारखंड के रांची से माता का दर्शन पूजन करने के लिए संजय चौधरी सपरिवार दोनों नवरात्रि में दर्शन करने के लिए आते थे. उन्होंने बताया कि नवरात्रि के दौरान मां के द्वार को देखकर अपने मन में संकल्प था कि एक दिन चांदी का दरवाजा मां के आशीर्वाद से लगवाएंगे. मां ने मनोकामना को पूर्ण करते हुए सब कुछ प्रदान किया.
लाखों श्रद्धालुओं की आस्था का केंद्र है विध्यवासिनी दरबार.
बता दें कि विध्यवासिनी दरबार लाखों श्रद्धालुओं की आस्था का केंद्र है. यहां आम दिनों में भी हजारों की संख्या में दर्शन-पूजन के लिए भक्त पहुंचते हैं और अपनी मनोकामना पूरी होने की कामना करते हैं. जी न्यूज

Leave a Reply

Your email address will not be published.