मनगढ़ंत समाचार हिंदी पत्रकारिता के लिए बड़ी चुनौती – राष्ट्रीय संगोष्ठी

गणपति चरित्र व दृष्टि पत्रिका का लोकर्पण

27 वे राष्टीय अलंकरण काशीरत्न एवम् शान ए काशी से तीस विभूती अलंकृत

वाराणसी से देवेन्द्र श्रीवास्तव की रिपोर्ट
वाराणसी। देश मे मनगढ़ंत समाचारों और भड़काऊ बयानो से उन्माद पैदा कर सामाजिक सौहार्द,शांति प्रेम आपसी भाईचारा,बिगाड़ने वाले समस्याओ की बाढ़ से निपटना आज के हिंदी पत्रकारिता की सबसे बड़ी चुनौती है। उक्त विचार सम्पूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय वाराणसी के पाणिनी सभागार मे हिंदी पत्रकारिता दिवस के अवसर पर इण्डियन एसोसिएशन ऑफ जनर्लिस्ट तथा सामाजिक विज्ञान विभाग के संयुक्त तत्वावधान मे आयोजित राष्टीय संगोष्ठी हिंदी पत्रकारिता : दशा व दिशा विषय पर वक्ताओ ने कही।
समारोह के मुख्य अतिथि पद्मश्री पं शिवनाथ मिश्र( विश्वविख्यात सितारवादक) विशिष्ठ अतिथि काशीरत्न ओमप्रकाश शर्मा(वरिष्ठ रेडियोलाजिस्ट, टाटा कैंसर सेंटर ) डा रवि शंकर (पूर्व निदेशक आकाशवाणी वाराणसी),काशीरत्न प्रदीप श्रीवास्तव (वरिष्ठ पत्रकार,लखन ऊ) समारोह अध्यक्ष काशीरत्न प्रो हीरक क्रांति चक्रवर्ती (संकाय प्रमुख आधुनिक ज्ञान विज्ञान विज्ञान संकाय संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय )आई ए जे राष्टीय अध्यक्ष डा कैलाश सिंह विकास ने मा सरस्वती के चित्र पर माल्यापर्ण व दीप जला कर समारोह का शुभारम्भ किया। मुख्य अतिथि पद्मश्री पं शिवनाथ मिश्र का अभिनंदन किया गया। ।


वरिष्ठ रेडियोलाजिस्ट डा ओम प्रकाश शर्मा व्दारा लिखित पुस्तक श्रीगणपति चरित्र का लोकार्पण मुख्य अतिथि ने की। समारोह अध्यक्ष प्रो हीरक कांति चक्रवर्ती ने दृष्टि पत्रिका लोकार्पित किया।


इण्डियन एसोसिएशन ऑफ जनर्लिस्ट के राष्टीय अध्यक्ष डा कैलाश सिंह विकास ने राष्टीय अलंकरण काशीरत्न तथा शान ए काशी के चयनित नाम की घोषणा की। मुख्य अतिथि व अन्य अतिथियो ने शाल, प्रमाण पत्र, स्मृति चिन्ह देकर अलंकृत किया। कार्यक्रम संयोजक आई ए जे मोती लाल गुप्ता,स्वागत सत्यनारायण व्दिवेदी एड,संचालन डा अनुपम गुप्ता एड, धन्यवाद प्रकाश अर्जुन सिंह ने की।


समारोह मे सर्वश्री डा संध्या यादव,जियाउद्दीन फारुकी,राम बाबू, आनंद कुमार सिंह डा एस एस यादव मो दाऊद आदित्य शंकर मिश्र आशीर्वाद सिंह रामनरेश विजय कृष्ण सिंह डा राजेश जायसवाल सुनील शर्मा,विक्रम कुमार डा नितेश कुमार गुप्ता डा रुद्रा नंद तिवारी देवेद्र श्रीवास्तव राजू वर्मा पियुष कान्त राय सुहेल अख्तर अमित पाण्डेय,राजेद्र मोहन श्रीवास्तव, फैसल फारुकी, हृदय नारायण द्विवेदी,सहित विभिन्न जिला व प्रदेश के पदाधिकारी शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.