भू माफ़ियाओं का जलवा और आतंक बरक़रार

मुंगराबादशाहपुर जौनपुर से सूरज विश्वकर्मा की रिपोर्ट

जौनपुर। मुंगराबादशाहपुर थाना क्षेत्र में पिछले कई सालों से भू माफ़ियाओं का ग्राफ तेजी से बढ रहा है। बुलडोजर के आतंक से बेखौफ होकर भूमाफिया अपना कहर बरपा रहे हैं । राजस्व को करोड़ों का चूना लगाते हुए अवैध रूप से गरीबों की भूमि,न्यायालय के समक्ष विचारधीन मामलों की भूमि सहित तालाब, स्कूल की लाखों करोड़ों रुपए की भूमि को भू माफिया औने पौने दामों में हथियाते हुए प्लाटिंग कर खरीद फरोख्त करने वाले लोगों से मोटी कमाई करते हैं।
मुंगराबादशाहपुर नगर से सटे हुए भूमि की बात करें तो यहाँ पर भूमि की कीमत आसमान छू रही है जिसके कारण भू माफिया तेजी से रियल स्टेट बिजनेस में हाथ लगा रहें हैं अपनी किस्मत चमका रहे हैं और इनका कारोबार तेजी से फल फूल रहा है। शासन प्रशासन से बेखौफ भू माफिया अपने 40-50 गुर्गों के साथ पहुंचकर जमीन कब्जा करने का काम करते हैं और इन पर कोई कार्यवाही नहीं होती है। जितनी तेजी से भू माफिया का वर्चस्व बढ़ता जा रहा है वो लोगों के ऊपर हावी होते जा रहे हैं और अपना खौफ लोगों के अंदर बनाते जा रहे हैं जिसके कारण लोग इनके सामने न तो सर उठा पा रहे हैं और न ही अपनी आवाज़ बुलंद कर पाते हैं इनके खिलाफ अगर कोई आवाज़ उठाता है तो उसे प्रताड़ित किया किया जाता है अथवा असमय,अकारण दुनिया से विदा हो जाता हैं।
श्वेतपोस अपराधियों से मिल रहे सरंक्षण के कारण भू माफियाओं का मनोबल दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। सरकार से बेखौफ भू माफिया के खिलाफ कार्यवाही शुरू होने पर कईयों का बहुरूपिया चेहरा भी बेनकाब होगा जो लोगों के सामने अच्छी और साफ सुथरी छवि दिखाकर गरीबों की भूमि कब्जा करने का काम करते हैं। भू माफिया से पीड़ित परिवार केवल न्यायालय में तारीख देखते देखते ही उम्र बिता रहे हैं। राजस्व विभाग के जिम्मेदार भी अवैध व्यापार में हिस्सेदार और मददगार बनकर कूट रचित दस्तावेज तैयार करते हैं। यहां की जनता भू माफिया से त्रस्त होकर थक हारकर चुप्पी साध रही है। जिनके बच्चों का भविष्य अंधकार मय हो रहा है। शासन, प्रशासन और न्ययालय से भी इन्हें न्याय नहीं मिल पा रहा है । पीड़ित परिवार का भरोसा न्याय से उठता जा रहा है। पीड़ित सरकार से न्याय की गुहार तथा भू माफियाओं पर बुलडोजर के प्रहार का इंतजार करता नजर आता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.