भाजपा कार्यकर्ताओं का थाने में आना मना

वरिष्ठ रिपोर्टर सतीश कुमार मौर्य

मेरठ भाजपा कार्यकर्ताओं का थाने में आना मना है पोस्टर मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस की छवि धूमिल करने और थाने पर हंगामा करने वाले लोगों के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है वीडियो फुटेज के आधार पर 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है

उत्तरप्रदेश के मेरठ में थाने पर आपत्तिजनक पोस्टर लगाने वाले मामले में पुलिस का बड़ा एक्शन देखने को मिला है. पुलिस की छवि धूमिल करने वाले 10-15 लोगों पर मुकदमा दर्ज कर लिया है. इस मामले में वीडियो फुटेज के आधार पर 6 लोगों की गिरफ्तारी भी की गई है. 

एसएसपी प्रभाकर चौधरी के अनुसार, शुक्रवार को एक प्रॉपर्टी खाली कराने के लिए मेडिकल थाना पुलिस पर कुछ लोग जबरन दबाव बना रहे थे. खुद को भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता बताने वाले इन्हीं लोगों ने थाने के बाहर एक पोस्टर लगा दिया था. दरअसल, इस पोस्टर पर लिखा था, “भाजपा के कार्यकर्ताओं का आना मना है.”  

थाने के बाहर इस तरह का पोस्टर लगने के बाद सूबे की सियासत भी गरमा गई. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने भी इसको लेकर एक ट्वीट भी किया. सपा नेता पोस्टर का फोटो शेयर करते हुए लिखा, ”ऐसा पहली बार हुआ है इन पाँच-छह सालों में, सत्तापक्ष के लोगों का आना मना हुआ थानों में. ये है उप्र की भाजपा सरकार का बुलंद इक़बाल!”

इसके बाद हैरत में आई पुलिस ने इस पूरे घटनाक्रम में मुकदमा दर्ज कर वीडियो फुटेज के आधार पर 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. इस मामले में 4 नामजद और 10-15 अज्ञात लोगों के खिलाफ गंभीर धाराओं में केस दर्ज किया गया है. एसएसपी का कहना है कि आगे इसमें विवेचना की जा रही है. अन्य आरोपियों को भी शीघ्र गिरफ्तार किया जाएगा. 

मेरठ के एसपी सिटी विनीत भटनागर ने भी कहा कि इस पूरे प्रकरण की जांच की जा रही है कि पोस्टर कहां छपवाया गया, कैसे यहां लाया गया और यहां पर आकर किसने थाने की दीवार पर चिपकाया? इन सभी बातों का खुलासा किया जा रहा है और आरोपियों के खिलाफ नियमानुसार कानूनी कार्यवाही की जा

Leave a Reply

Your email address will not be published.