प्राविधिक शिक्षा मंत्री ने निर्माणाधीन आई0टी0 इंजीनियरिंग कालेज का किया निरीक्षण गुणवत्ता ठीक करने का निर्देश

आत्मा प्रसाद त्रिपाठी की रिपोर्ट

धन की कमी नहीं बशर्ते उसका समय से करें सदुपयोग -आशीष पटेल

मीरजापुर, 29 मई, 2022- प्रदेश का प्राविधिक शिक्षा, उपभोक्ता संरक्षण एवं बाॅट माप मा0 मंत्री श्री आशीष पटेल जी द्वारा निर्माणाधीन आई0टी0इंजीनियरिंग कालेज का निरीक्षण किया। निरीक्षण के मा0 मंत्री जी द्वारा पूरे एकडिक भवन, के एक-एक संकाय का भ्रमण कर निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान मा0 मंत्री वीम पर टूटे प्लास्टर को देख नाराजगी व्यक्त करते हुये परियोजना प्रबन्धक सी0एन0डी0एस0 को निर्देशित किया कि निर्माण की गुणवत्ता को बनाये रखा जाए अन्यथा कडी कार्यवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि जितनी धनराशि अवशेष है उसका सदुपयोग किया जाए तथा अवशेष धनराशि की मांग तत्काल शासन से पत्राचार कर मांग कर ली जाए। मा0 मंत्री ने कहा कि धन की कमी नहीं होने दी जाएगी परन्तु धन का सही सदुपयोग किया जाए तथा कार्य को समय से पूर्ण कराया जाए। इंजीनियरिंग कालेज को मा0 मंत्री जनपद के लिये एक बडा सौगात बताते हुऐ कहा कि उनका प्रयास है कि माह दिसम्बर तक मुख्य भवन का पूर्ण कराते हुये न्यूनतम व्यवस्थायें पूर्ण करा ली जाए ताकि आगे के सत्र में क्लास प्रारम्भ किया जा सके। बाकी निर्माण कार्य चलता रहे। निरीक्षण के दौरान पाई गई कमियों को सुधारने के लिये सम्बंधित कार्यदाई संस्था के अधिकारियों को सुधारने के लिये निर्देशित किया गया। उन्होंने कहा कि मीरजापुर के चहुमुखी विकास के लिये मा0 केन्द्रीय मंत्री श्रीमती अनुप्रिया पटेल जी के नेतृत्व में लगातार प्रयासरत हैं। उन्होंने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्नाथ जी किसी स्तर पर लापरवाही, व गुणवत्ता के साथ कभी नहीं नहीं करते और भ्रष्टाचार के खिलाफ कडी कार्यवाई करते हैं। उन्होंने परियोजना प्रबन्धक को निर्देशित किया कि मजदूरों, व मशीनों की संख्या में बढोत्तरी करते हुये कार्य को समय से पूर्ण किया जाए। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी श्री लक्ष्मी वीएस से कहा कि गुणवत्ता की जाॅंच वे स्वंय अपने नेतृत्व में टेक्निकल टीम के द्वारा समय-समय करायें ताकि एक अच्छा भवन इंजीनिरिंयग कालेज को प्रापत हो सके। इस अवसर पर निर्माणाधीन महिला पालीटेक्निक कालेज के प्रगति के बारे में भी जानकारी ली गयी तथा कमियों को पूर्ण कराते हुये तत्काल हैण्डओवर कराने का निर्देश दिया गया। इस अवसर पर निदेशक इंजीनियरिंग कालेज आजमगढ, उप जिलाधिकारी सदर श्री चन्द्रभान सिंह, परियोजना प्रबन्धक सी0एण्डडी0एस0, प्राचार्य पालीटेक्निक कालेज मीरजापुर के अलावा अन्य सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे।
[29/05, 6:18 PM] ATMA PRASAD TRIPATHI: खनिजों का ओवरलोड कराने वाले क्रशर / कटर प्लान्ट तथा खनन पट्टे की अनुमति / अनुबन्ध होंगे निरस्त

मीरजापुर 29 मई 2022- उप खनिजों के अवैध परिवहन तथा ओवरलोड परिवहन पर प्रभावी अंकुश लगाये जाने के सम्बन्ध में जिलाधिकारी श्री प्रवीण कुमार लक्षकार के निर्देश के क्रम में अपर जिलाधिकारी (वि० / रा०) श्री शिव प्रताप शुक्ल , प्रभारी अधिकारी (खनिज), मीरजापुर तथा ज्येष्ठ खान अधिकारी, मीरजापुर के साथ समीक्षा बैठक की गयी। समीक्षा के दौरान यह तथ्य संज्ञान में लाया गया है कि कतिपय स्टोन क्रशर / कटर प्लान्ट संचालकों द्वारा वाहनों में निर्धारित मात्रा से अधिक मात्रा में उप खनिज लादा जा रहा है। यह निर्देश दिये गये कि टीम बनाकर क्रशर / कटर प्लान्ट की जाँच करायी जाय। जाँच के दौरान यदि किसी क्रशर / कटर प्लान्ट द्वारा प्लान्ट से खनिजों का ओवरलोडिंग कराया जाना पाया जाता है तब सम्बन्धित प्लान्ट की अनुमति निरस्त करने की कार्यवाही की जाय। यह भी कहा कि परिवहन प्रपत्र e-MM – 11/e-Form C के आधार पर खनिजों का ओवरलोड करने वाले वाहन पकड़े जाने पर वाहन स्वामी / चालक के साथ-साथ सम्बन्धित पट्टाधारक पर भी ₹25000/- का जुर्माना लगाया जाता है। यह निर्देश दिये गये कि यदि किसी खनन पट्टाधारक द्वारा अपने खनन क्षेत्र से बार-बार खनिजों का ओवरलोड कराया जा रहा है तब ऐसे पट्टाधारक के अनुबन्ध को निरस्त करने की कार्यवाही की जाय।

Leave a Reply

Your email address will not be published.