नागालैंड राष्ट्रीय ई-विधान एप्लिकेशन कार्यक्रम को लागू करने वाली देश की पहली विधानसभा रचा इतिहास

नागालैंड की विधानसभा ने पूरे देश में इतिहास रच दिया है. दरअसल नागालैंड असेंबली देश की पहली पेपरलेस विधानसभा बन गई है. शनिवार को इस विधानसभा को पूरी तरह से पेपरलेस कर दिया गया है. यहां पर राष्ट्रीय ई-विधान एप्लीकेशन (NeVA) के कार्यक्रम को लागू कर दिया गया है. 

इस विधानसभा के पेपरलेस हो जाने से नागालैंड विधानसभा सचिवालय में चल रहे बजट सत्र के बीच 60 सदस्यों की विधानसभा में प्रत्येक टेबल पर एक टैबलेट अटैच कर दिया गया है. केंद्रीय संसदीय मंत्री प्रहलाद जोशी ने ट्वीट कर जानकारी दी कि नेशनल ई-विधान योजना के तहत नागालैंड पूरी तरह से देश की पहली डिजिटल विधानसभा बन गई है. अब सदस्यों को सदन की कार्यवाही में हिस्सा लेने के लिये इलेक्ट्रानिक उपकरणों का उपयोग कर सकते हैं. यह पहल कागज रहित प्रक्रिया को प्रोत्साहित करती है. 

नागालैंड ने पूरी तरह से पेपरलेस होने के लिए राष्ट्रीय ई-विधान एप्लिकेशन कार्यक्रम को लागू करने वाली देश की पहली विधानसभा बनकर इतिहास रच दिया। नागालैंड विधानसभा सचिवालय ने चल रहे बजट सत्र के बीच 60 सदस्यों की विधानसभा में प्रत्येक टेबल पर एक टैबलेट या ई-बुक अटैच की है,पेपरलेस असेंबली या ई-असेंबली एक कॉन्सेप्ट है जिसमें असेंबली के काम को सुविधाजनक बनाने के लिए इलेक्ट्रॉनिक साधन शामिल हैं।

सतीश मौर्य वरिष्ठ पत्रकार की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.