नवागत जिलाधिकारी श्री गौरांग राठी ने अधिकारियों को नवाचार/नवीन पहल पर बल देने के दिये निर्देश

अन्त्योदय तक हो विकास योजनाओं की पहुॅच-जिलाधिकारी गौरांग राठी

गरीबों व वंचित वर्गो को मिले न्याय-नवागत जिलाधिकारी

फरियादियों की समस्याओं का संतुष्टि पूर्ण हो निस्तारण-गौरांग राठी

म्हिला सशक्तिकरण, किसान समृद्धि, युवा रोजगार, स्वच्छता, डिजिटल भुगतान, समाजिक न्याय बेहतर स्वास्थ्य सुविधा पर जिलाधिकारी ने दिया जोर


सर्वोच्च विकास प्राथमिकता योजना एवं आगामी मण्डलीय समीक्षा बैठक के दृष्टिगत जिलाधिकारी ने की बैठक

कार्यशैली में सुधार करने का नवागत जिलाधिकारी ने दिये सख्त निर्देश

भदोही उत्तरप्रदेश सरकार की सर्वोच्च विकास प्राथमिकता में शामिल योजनाओं तथा आगामी मण्डलीय समीक्षा बैठक के तैयारियों के साथ नवागत जिलाधिकारी श्री गौरांग राठी ने केलेक्ट्रेट सभागार में उपस्थित अधिकारियों से परिचयात्मक वार्ता कर आवश्यक दिशा निर्देश व कार्यशैली में नवाचार/नवीन पहल पर बल दिया। उन्होंने जनता की सेवा को अपनी सर्वोच्च प्राथमिकता बताते हुए अधिकारियों व कर्मचारियों को फरियादियों की शिकायत का शत्-प्रतिशत निस्तारण करते हुए उनकी सन्तुष्टि पर बल दिया। उन्होंने प्रत्येक गरीब व पीड़ित व्यक्तियों को प्राथमिकता पर न्याय दिलाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं तक सभी व्यक्तियों की पहुॅच हो तभी आदरणीय प्रधानमंत्री जी का अन्त्योदय विजन सकार होगा। उन्होंने तहसील/सम्पूर्ण समाधान दिवस, थाना/समाधान दिवस, आई जी आर एस, मुख्यमंत्री पोर्टल, व अन्य पोर्टलों पर लम्बित शिकायतों व उनके संतुष्टिपरक निस्तारण न होने के अन्तर्गत गहनता से विशलेषण करते हुए अधिकारियों को निर्देशित किया कि अब से सभी फरियादियों/शिकायत कर्ता का नाम, मोबाइल नम्बर, पता एक फार्मेट पर लिखते हुए मूल समस्या क्या है। तथा उसके निस्तारण हेतु मौके पर जाकर स्थली निरीक्षण कर व्याख्यात्क आख्या लिखे तथा विभागाध्यक्ष द्वारा अधीनस्त कर्मचारियों की आख्या का रेण्डमलीय चेकिंग करते हुए स्थायी समाधान पर बल दे। उन्होंने किसान सम्मान निधि किए जा रहे डाटा फीडिग कार्यो सम्बन्धित अद्यतन जानकारी प्राप्त की।
सर्वोच्च विकास प्राथमिकता योजनाओं तथा आगामी मण्डलीय समीक्षा बैठक के तैयारियों के क्रम में सिंचाई एवं जल संसाधन, ऊर्जा, कृषि, पशुधन, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, पंचायती राज, नगर व ग्राम्य विकास, समाज कल्याण, उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण, बाल विकास पुष्टाहार, वन, बेसिक शिक्षा, सूक्ष्म लघु एवं उद्यम उद्योग, श्रम, खादी एवं ग्रामोद्योग, खाद्य एवं रसद आदि विभागों के अब तक के अद्यतन कार्यो की प्रगति की विभागाध्यक्षों से समीक्षा करते हुए लक्षित लक्ष्य को पूर्ण करने का निर्देश दिया। उन्होंने सभी विभाध्यक्षों से कार्यो में तकनीकी व नवाचार का प्रयोग करते हुए मासिक लक्ष्यों की पूर्ति पर बल दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.