चुना दरी में दोस्तों के साथ पिकनिक मनाने आए 2 छात्रों की डूबकर मौत

मिर्ज़ापुर से वरिष्ठ पत्रकार आत्मा प्रसाद त्रिपाठी की रिपोर्ट

दोनों का शव दूसरे दिन सुबह चुना दरी से गोताखोरों ने निकाला

अहरौरा बरसात का मौसम शुरू होने के साथ ही पर्यटन स्थल चुना दरी में मौत का सिलसिला भी शुरू हो गया है बरसात की पहली बारिश का आनंद उठाने आए बुधवार को अपने सात दोस्तों के साथ चुना दरी में पिकनिक मनाने आए दो छात्र राहुल सोनकर उम्र 21 वर्ष पुत्र तेजू सोनकर जो बी ए सेकंड ईयर का छात्र था एवं मनीष कुमार मौर्य उम्र 20 वर्ष पुत्र रमेश कुमार मौर्य निवासी बभनौली धर्मशाला रावटसगंज यह हाई स्कूल का छात्र है जिनकी बुधवार को चुना दरी में डूबने से मौत हो गई ।
इनके शव को गुरुवार की सुबह गोताखोरों की मदद से बाहर निकाला गया ।
पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर अंत्य परीक्षण को भेज दिया वहीं परिजनों की भारी भीड़ थाने पर जुटी रही ।
वही जिनके घर के बच्चे डूबे हैं उनके परिजनों का रो रो कर बुरा हाल हो रहा है ।

थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह ने बताया कि बुधवार को दोपहर में बभनौली धर्मशाला सोनभद्र से सात लड़के मौज मस्ती करने के लिए लिखनिया दरी आए हुए थे लिखनिया दरी से घूमते टहलते सातों लड़के चुना दरी चले गए और वहीं राहुल सोनकर , मनीष कुमार मौर्य , अखिलेश रावत उम्र 20 वर्ष,शमशाद खान उम्र 21 वर्ष , राज उम्र 18 वर्ष , अभय कुमार उम्र 21 वर्ष , सभी चुना दरी में नहाने लगे और एक लड़का शिवम विश्वकर्मा विश्वकर्मा सभी नहा रहे लड़कों का वीडियो बनाने लगा ।
स्नान करते करते दो लड़के राहुल सोनकर एवं मनीष कुमार मौर्य गहरे पानी में जाकर डूबने लगे उनको देख साथ नहा रहे लड़के बचाने का प्रयास किया लेकिन सफलता नहीं मिली तो बाहर निकल गए ।
और शोर मचाना शुरू किया लेकिन उसके सामने बचाव का कोई उपाय नहीं था तो लाचार हो गए सब ।

चुना दरी से लगभग 4 किलोमीटर दूर लिखनिया दरी सड़क पर आकर किसी तरह नेटवर्क खोज कर साथियों ने 112 नंबर पर पुलिस को सूचना दिया तब तक अंधेरा हो गया था और सूचना देने के बाद सभी डर बस अपने अपने घर चले गए ।
सूचना पाकर थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह मौके पर पहुंचे लेकिन वहां उनको शाम होने के कारण कुछ भी नहीं मिल पाया तो वे देर रात तक वापस थाने आ गए ।
जब दोनों लड़के देर शाम तक घर नहीं पहुंचे तो परिजनों ने साथ आए लड़कों से पूछताछ करना शुरू कर दिया तो दबी जुबान साथ आए लड़कों ने बताया कि वह दोनों चुना दरी में कहीं गायब हो गए हैं इस पर गुरुवार की सुबह परिजन थाने आए और पुलिस को साथ लेकर चुना दरी गए कोई पुलिस ने चुनार से गोताखोरों को बुलाकर शव की खोजबीन कराकर बाहर निकल वाया।
गोताखोरों ने बताया कि चुना दरी में शव को निकालने के लिए डुबकी लगाई तो अलग-अलग स्थानों पर फंसे शवों को उनके प्रयास से निकाला गया ।

भाग गए साथी

थाने पहुंचे परिजनों ने बताया कि तीन मोटरसाइकिल से सात लड़के चुना दरी घूमने के लिए आए हुए थे जिसमें चुना दरी में मनीष और राहुल को डूबने के बाद मात्र एक साथी शिवम विश्वकर्मा साथ में रहा परिजनों के साथ रहा अन्य लोग मोटरसाइकिल एवं मोबाइल लेकर चले गए उनका अता पता नहीं चल पा रहा है ।
परिजनों में आक्रोश है कि उन लोगों को आकर मौके पर बताना चाहिए था और साथ रहना चाहिए था ।

चुना दरी पर पर्यटकों को जाने से रोकने के लिए पुलिस लिखेगी वन विभाग को पत्र

एसआई श्याम लाल ने बताया कि आगे चुना दरी में कोई घटना न हो इसके लिए डीएफओ को पत्र लिखकर चुना दरी से पहले पूरे रास्ते में जाली लगाने का अनुरोध किया जाएगा ।
इसके साथ ही लिखनिया दरी एवं चुना दरी जाने वाले रास्ते पर पीएसी हर वक्त तैनात रहेगी ताकि कोई भी व्यक्ति चुना दरी में न जा सके ।

सभी साथी थे रावटसगंज के

चुना दरी में जिन दो लड़कों की डूबने से मौत हुई है उनके सभी साथी रावटसगंज एवं आसपास के थे और सभी लड़के मौज मस्ती करने के उद्देश्य से चुना दरी आए हुए थे लेकिन कौन जानता था कि यह मस्ती मातम में बदल जाएगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.