गोंडा से बड़ी खबर बताते चलें मामला है गोंडा जिला हॉस्पिटल का…

गोंडा से ब्यूरो रिपोर्ट शिव शरण

गोंडा से बड़ी खबर बताते चलें मामला है गोंडा जिला हॉस्पिटल का आज के लगभग 1 माह पहले जिला हॉस्पिटल में उमेश वर्मा ने अपने भाभी का ऑपरेशन कराने के लिए भर्ती कराया था डीबी स्टोन का ऑपरेशन किसी तरह तो हो गया लेकिन ऑपरेशन में खर्चा बहुत सारा आ गया जबकि जिला हॉस्पिटल में सब कुछ फ्री होता है उमेश के भाभी के ऑपरेशन का चार्ज सुधीर कुमार मौर्या 6000 लिए डॉ बीके गुप्ता ₹8000 लिए डॉक्टर सुधीर कुमार मौर्या ने ऑपरेशन करा डॉक्टर बीके गुप्ता ऑपरेशन भी नहीं करें और पैसा भी रिटर्न नहीं दिया ऑपरेशन होने के लिए दवा 1200 कि मेड्सिन बाहर से मंगाए डॉक्टर सुधीर मौर्या ऑपरेशन से पहले ब्लड टेस्ट अल्ट्रासाउंड जो हुआ उसका भी चार्ज 12 सो रुपए लिए हॉस्पिटल के कर्मचारी ने वार्ड में जो सिस्टर रहती हैं उन्होंने मरीज से पांच ₹500 लिए इन सभी घटनाओं के बारे में गोंडा मुख्य चिकित्सा अधिकारी को लिखित में और सारे सबूत उमेश वर्मा और शिव शरण पांडे ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को 11 मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने आश्वासन दिया कि उचित कार्रवाई किया जाएगा

आज के 10 दिन पहले जिला हॉस्पिटल सीएमओ ऑफिस से एक लेटर आया उमेश और शिवशरण के नाम से उमेश लेटर को लेकर गए हिला हॉस्पिटल में तो वहां पर मुलाकात हुई मुख्य चिकित्सा अधिकारी ए पी सिंह और आदित्य कुमार मुख्य चिकित्सा अधिकारी दोनों को इस मामले की जांच करने को मिला था डाक्टर आदित्य कुमार और ए पी सिंह बोले चेंबर में चलो आपसे कुछ बात करना है वहां पर उमेश से पूछा गया आप पूरी बात शुरू से मामला बताएं उमेश ने सारे प्रकरण और मामले की जानकारी दोनों चिकित्सा अधिकारियों को दिया उसके बाद अधिकारी बोले फिर से एक लिखित में कंप्लेंट दो उमेश लिखकर एप्लीकेशन दिया लेकिन दोनों मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने उमेश के ऊपर बहुत दबाव बनाया और बोले कि सबको पता है की जिला हॉस्पिटल में बिना पैसे के कुछ नहीं होता फिर अगर आपको कंप्लेन करना था तो यहां जिला हॉस्पिटल में क्यों आए थे और और अधिकारी बोले की 150000 से 200000 लाख में कोई एमबीबीएस डॉक्टर नहीं काम करेगा और अधिकारी बोले आपके कंप्लेंट करने से कुछ होगा भी नहीं आपके पास चाहे जो सबूत हो और अधिकारी बोले आप मामले को यहीं खत्म कर दो नहीं तो आपकी और आपके दोस्त शिवशरण पांडे पत्रकार की लाइफ बर्बाद हो जाएगी जिंदगी भर तुम दोनों लोग जेल में रहोगे तुम दोनों अपनी लाइफ खराब मत करो मेरे यहां के डॉक्टरों का और कर्मचारियों का कोई कुछ नहीं कर सकता है और पैसे का लेन देन भ्रष्टाचार कोई भी खत्म नहीं कर सकता है और भी दोनों अधिकारी बहुत कुछ अपशब्द बोले उसके बाद उमेश वर्मा चैंबर से बाहर निकल कर आए और सारे मामले की जानकारी शिवशरण को दिया और कहां कि जब ऊपर के अधिकारी जो जांच कर रहे हैं इस मामले की वह भी उन्हीं लोगों डॉक्टरों के साथ मिले हैं तो इस मामले में कोई कार्रवाई क्या होगी लेकिन चेंबर में जितनी बात दोनों मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने उमेश वर्मा को बोला था उस पूरे मामले का भी वीडियो बना हुआ था और ऑडियो भी था क्योंकि उमेश चेंबर में हिलने से पहले बटन कैमरा चालू कर लिए थे जो शर्ट में लगाए हुए थे और शिव शरण पांडे के पास फोन लगाकर जेब में रख लिया था जिस से जितनी बात चेंबर में हुई सबका सबूत मौजूद था उसी दिन शाम को डॉक्टर आदित्य कुमार के पास शिव शरण पांडे भारत वन न्यूज ने फोन करा था आदित्य कुमार सर से पूछा शिव शरण ने जब आप लोग इस तरह से करेंगे तो गरीब जनता का क्या हाल होगा आदित्य कुमार ने जवाब दिया कि हम इस मामले की जांच कर रहे हैं और जल्द से जल्द कार्रवाई होगी शिव शरण ने कहा सर आप उमेश के ऊपर दबाव क्यों बना रहे हैं कंप्लेन वापस लेने के लिए तो आदित्य कुमार सर ने कहा हम नहीं बोल रहे हैं कंप्लेन वापस लो शिव शरण ने कहा नहीं सर जो जो जितनी बात चेंबर में आप लोगों की हुई है उसका वीडियो और ऑडियो मेरे पास है हम इसका भी खबर चलाएंगे तो आदित्य कुमार सर ने बोला नहीं ऐसा मत करना नहीं तो हम लोग फंस जाएंगे और आप परेशान मत हो जो जो लोग इस मामले में पैसा लिए हैं

जो भी डॉक्टर कर्मचारी सब के ऊपर कार्रवाई होगी यह मेरा वादा है और आप इस खबर को मत चलाना ना चलाने की कीमत देंगे जो आप कहो हम दोनों लोग करने को तैयार हैं लेकिन इस खबर को मीडिया में मत चलाना लेकिन इस मामले में अभी तक जांच खत्म नहीं हुआ और किसी अधिकारी के ऊपर कोई भी कार्रवाई नहीं हुआ आज हॉस्पिटल में उमेश वर्मा अधिकारी से मिलने गए थे तो वहां पर देखा डॉक्टर सुधीर मौर्य दो ऑपरेशन आज भी करें हैं जीबी स्टोर का और सब से पैसा लिया है और एंटी सर्जन रायसर ने एक ऑपरेशन कान का करा है जिसका दाम लिया है 5000 और इन सभी मामलों का मरीजों का बयान लेकर वीडियो बना है देखना अब यह है गोंडा जिला अस्पताल के सारे अधिकारी और कर्मचारी गरीब जनता को और कब तक लूटते हैं अब देखना यह होगा उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री और मुख्यमंत्री इस मामले में क्या करते हैं अधिकारी के ऊपर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *